कैट द्वारा चीनी उत्पादों के बहिष्कार हेतु राष्ट्रीय अभियान शुरू करने की घोषणा - ई कॉमर्स कंपनियों द्वारा गृह मंत्रालय के आदेश की गलत व्याख्या पर कैट ने भेजा राजनाथ सिंह को पत्र





 

रिपोर्ट मनप्रीत सिंह

रायपुर छत्तीसगढ़ विशेष : कॉनफेडरेशन ऑफ आल इंड़िया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष मगेलाल मालू, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव, प्रदेश महामंत्री जितेन्द्र दोशी, प्रदेश कार्यकारी महामंत्री परमानंद जैन, प्रदेश कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल एवं प्रदेश प्रवक्ता राजकुमार राठी ने बताया कि ई कंपनियों द्वारा गृह मंत्रालय द्वारा 30 अप्रैल, 2020 को जारी किए गए आदेश के प्रावधानों की गलत व्याख्या के जानबूझकर किए गए प्रयासों पर हमला बोलते हुए कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट ) ने आरोप लगाया कि देश की कुछ ई-कॉमर्स कंपनियां अपने निजी फायदे के लिए इस आदेश को गलत तरीके से प्रस्तुत करते हुए कह रही हैं की अब वो ऑरेंज एवं ग्रीन जोन में गैर जरूरी उत्पादों की बिक्री कर सकती हैं जबकि गृह मंत्रालय ने अपने आदेश में ऐसी किसी अनुमति को स्पष्ट ही नहीं किया है ! ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा इस तरह की गलत व्याख्या के कारण को लेकर कैट ने आज रक्षा मंत्री एवं कोविड-19 पर गठित मंत्रियों के समूह के अध्यक्ष श्री राजनाथ सिंह को आज एक पत्र भेजा है जिसमें इस मुद्दे पर सरकार की ओर से इसे तुरंत स्पप्ष्टीकरण दने का आग्रह किया है ! कैट ने इसी आशय का पत्र गृह मंत्री श्री अमित शाह और वाणिज्य मंत्री श्री पीयूष गोयल को भी भेजा है ! अपने पत्र में कैट ने कहा की गृह मंत्रालय के आदेश के अनुसार यह बहुत स्पष्ट किया गया है कि ई-कॉमर्स कंपनियों को केवल रेड ज़ोन में आवश्यक सामान देने की अनुमति है जो वास्तव में सरकार की मंशा है ! उक्त आदेश में कहीं भी यान नहीं कहा गया है की ऑरेंज और ग्रीन जोन में गैर-जरूरी सामानों की डिलीवरी ई कॉमर्स कंपनियां कर सकती हैं ! जबकि ये ई-कॉमर्स कंपनियां अपने निजी लाभ के लिए यह गलत व्याख्या कर रही हैं कि चूंकि प्रतिबंधित गतिविधियों को छोड़कर अन्य सभी गतिविधियों को ऑरेंज और ग्रीन ज़ोन में अनुमति दी गई है, इसलिए वे भी ऑरेंज और ग्रीन ज़ोन में गैर-ज़रूरी सामान की डिलीवरी करने के लिए स्वतंत्र है !




अपने पत्र में कैट ने कहा कि यह बहुत अनुचित होगा यदि ई कॉमर्स कंपनियों को सभी प्रकार के गैर-आवश्यक सामान की बिक्री करने की अनुमति दी जाती है जबकि खुदरा विक्रेताओं को केवल आवश्यक वस्तुओं में ही व्यापार करने की अनुमति है। इससे बाजार में असंतुलन पैदा होगा और अनावश्यक टकराव को बढ़ावा मिलेगा।


‌उधर दूसरी ओर कैट ने राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल एवं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री अमर पारवानी ने आज कहा कि वैश्विक अर्थव्यवस्था को अपने लाभ के लिए अस्थिर करने के लिए कोविड-19 के विश्व भर में हुए संक्रमण में चीन की संभावित भूमिका को देखते हुए, कैट ने देश भर में “चीनी सामान का परित्याग ” करने के लिए एक राष्ट्रीय अभियान शुरू करने का फैसला किया है। ।श्री खंडेलवाल ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि भारतीय व्यापार काफी हद तक चीन पर निर्भर है और पिछले वर्षों में व्यापारियों द्वारा उनकी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए चीन को छोड़कर अन्य किसी देश की पहचान करने का कोई प्रयास नहीं किया गया। कोविड -19 के कड़वे अनुभवों को देखते हुए भारत के व्यापारी अब काफी हद तक चीन पर अपनी निर्भरता कम कर देंगे।


श्री खंडेलवाल एवं श्री पारवानी ने बताया कि कैट ने देश के प्रख्यात चार्टर्ड अकाउंटेंट एवं कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री बीसी भरतिया की अध्यक्षता में देश के वरिष्ठ व्यापारी नेताओं का एक कार्यकारी समूह का गठन किया है, जो कैट के ” चीनी वस्तुओं के परित्याग” ‘राष्ट्रीय अभियान को देश भर में गति देगा ! कैट ने यह लक्ष्य निर्धारित किया है इस वर्ष आगामी दिवाली के त्यौहार पर लगभग 2000 करोड़ रूपए का सामान कम आयात हो इस अभियान के तहत कैट देश के उन आयातकों को चीन से आयात करते हैं , उन्हें चीन से आयात करने वाले उत्पादों पर वो अंकुश लगाए और चीन के स्थान पर अन्य देशो से आयात करने पर जोर दें !


भारत का चीन से व्यापार मुख्य रूप से तीन वर्टिकल के लिए चीन पर निर्भर है यानी चीन से तैयार माल का आयात, विभिन्न उद्योगों के लिए कच्चा माल और विभिन्न इकाइयों द्वारा भारत में निर्मित होने वाले उत्पादों के स्पेयर पार्ट्स। कैट का वर्किंग समूह पहले उन सामानों की पहचान करेगा जिनके बिना लोगों का जीना संभव है ऐसे में खिलौने, बिजली के सामान, फर्नीचर, उपहार की वस्तुएं ,बिल्डर हार्डवेयर, कपडा आदि शामिल हैं जिनको व्यापारियों द्वारा इन चीनी उत्पादों को नहीं बेचने और उपभोक्ताओं को नहीं खरीदने का आह्वान करेंगे।कैट समूह उन चीनी सामानों की पहचान करेगा जो या तो भारत में उत्पादित किए जा सकते हैं या किसी अन्य राष्ट्र से प्राप्त किए जा सकते हैं और तीसरी श्रेणी उन सामानों की है जो वर्तमान परिदृश्य में अपरिहार्य हैं और उन्हें भारत में मेक इन इंडिया कार्यक्रम के अंतर्गत अपने ही देश में उत्पादित किया जा सके !


श्री भरतिया ,श्री खंडेलवाल एवं श्री पारवानी ने सरकार से कहा की जो चीनी उत्पाद घरेलू उधोग या व्यापार के लिए बहुत जरूरी नहीं हैं उन पर सरकार कस्टम ड्यूटी में वृद्धि करे ! कैट ने सरकार से आग्रह किया है की भारत के लघु उद्योगों को ऐसे सामानों के बड़े स्तर उत्पादन पर उत्पादन करने के लिए प्रोत्साहित करे और इसके लिए इन लघु उधोगों को सरल तरीके से बैंकों से ऋण मिले तथा आवश्यक टेक्नॉलजी को लघु उद्योगों के लिए उपलब्ध कराया जाए जिससे वो अपनी क्षमता का अधिक से अधिक उत्पादन करें ! सीएआईटी ने सरकार से उन संभावित विदेशी निर्माताओं की पहचान करने का भी आग्रह किया है जो “मेक इन इंडिया” अवधारणा के तहत भारत में अपनी विनिर्माण इकाइयाँ स्थापित कर सकते हैं। इन कदमों से देश को चरणबद्ध तरीके से चीनी उत्पादों से निर्भरता से छुटकारा मिल सकेगा और वह भी कम समय में।



Popular posts
शरीर को डिटॉक्स करने का एक बेहतरीन तरीका, तलवों पर एक खास तरह की मिट्टी लगाना,
Image
अब देश के चोर भी हो गए हाईटेक - राजधानी एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों में चोरी करने के लिए प्लेन से आता था चोर
Image
समता और चौबे कॉलोनी में मिले कोरोना पॉजिटिव, निगम टीम ने प्रभावित क्षेत्रों को किया सेनेटाइज्ड
Image
केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव - छत्तीसगढ़ में कोरोना का पॉजिटिविटी रेट बढ़ा, और बढ़कर लगभग 28% हो गया
Image
ईद-उल-अजहा पर्व पर आज विधायक कुलदीप जुनेजा और छत्तीसगढ़ विशेष के सम्पादक मनप्रीत सिंह ने सभी प्रदेशवासियों को बधाई देते कहा कि ईद-उल-अजहा पर्व हमे भाईचारा एवं एकजुटता का संदेश देता है
Image
रायपुर , पूर्व विधायक श्री बैजनाथ चन्द्राकर ने करोना संक्रमण को देखते हुए छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी बैंक (अपेक्स बैंक) के प्राधिकारी के साथ मुख्यमंत्री सहयता कोष मे 10.00 लाख की राशि दी
Image
सर्दियों में सॉफ्ट और खूबसूरत स्किन के लिए फॉलो करें ये जरूरी टिप्स, कोमल बनेगी त्वचा, ग्लो रहेगा बरकरार
Image
हास्य केंद्र योग के दसवें स्थापना वर्ष में शामिल हुए विधायक कुलदीप जुनेजा
Image
एक थाली के पैसे देकर 2 थाली मुफ़्त, मंजू ममता रेस्टोरेंट का फेसबुक में विज्ञापन देख, लालच में पिता-पुत्री के खाते से उड़े हज़ारों --- रायपुर पुलिस ने धोखाधड़ी का अपराध किया दर्ज
Image
प्रदेश के गृह,पीडब्ल्यूडी, पर्यटन, संस्कृति मंत्री ताम्रध्वज साहू ने अंतर्राष्ट्रीय प्रेस स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर दी मीडिया को बधाई एवं शुभकामनाएं दी
Image