कोल ट्रांसपोर्टिंग – हाईकोर्ट ने एसईसीएल से दो हफ्ते में मांगा जवाब – कहा भुविस्थापितो को वैकल्पिक रोजगार देने में आनाकानी क्यों सराईपाली बूड़बूड़ परियोजना का मामला


Report manpreet singh 


Raipur chhattisgarh VISHESH :विस्थापितों को कोल ट्रांसपोर्टेशन वर्क (कोयला लदान एवं परिवहन कार्य) सहित अन्य कार्यो के निविदा में 20% आरक्षण देने और एसईसीएल द्वारा जारी किये ई टेंडर को निरस्त करने की मामले में आज सुनवाई करते हुए माननीय उच्च न्यायालय ने एसईसीएल से दो हफ्ते में अपना जवाब प्रस्तुत करने की नोटिस जारी किया है । कोरबा क्षेत्र अंतर्गत सराईपाली ओपन कास्ट परियोजना में कोयला लदान परिवहन और अन्य 20 प्रतिशत कार्य स्थानीय भूविस्थापितों के सोसाइटी के माध्यम से कराये जाने के निर्णय को नजरअंदाज कर ई टेंडर करने के विरुद्ध भुविस्थापित कामगार सहकारी समिति बुडबूड़ पाली के माध्यम से अधिवक्ता संजय अग्रवाल के द्वारा हाईकोर्ट में याचिका दायर की गयी है जिसकी आज सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट के जज चीफ जस्टिस मेनन एवं के के साहू के डबल बेंच ने एसईसीएल को फटकार लगाते हुए पूछा है कि 1200 खातेदारों में 301 को नौकरी के बाद बाकी बेरोजगारों को वैकल्पिक रोजगार क्यों नहीं दिया जायेगा, बिलासपुर उच्च न्यायलय ने कहा है कि फंक्शनल डायरेक्टर्स के निर्णय कों लागू करने में आनाकानी क्यों किया जा रहा है । एसईसीएल को कहा गया है कि 15 दिवस के अंदर जवाब प्रस्तुत करें तब तक टेंडर की प्रक्रिया की स्थिति यथावत रहेगी । लॉक डाउन के कारण सुनवाई की प्रक्रिया वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये पूरी हुई । गौरतलब है कि एसईसीएल कोरबा क्षेत्र अंतर्गत सराईपाली बूड़बुड खुली खदान को शुरू करने के लिए प्रबंधन लगातार प्रयास कर रही है और विगत 26 मई को ई टेंडर जारी किया गया है । जिसके खिलाफ भुविस्थापितो ने मोर्चा खोल दिया है और 14 जून से खदान के मुख्यद्वार पर ताला जड़कर और झोंपड़ी बनाकर आंदोलन पर बैठे हुए हैं । उनकी मांग है कि फंक्शनल डायरेक्टर्स के निर्णय को लागू करते हुए 20 प्रतिशत कार्य भुविस्थापित सोसाइटी को दिया जाए अन्यथा खदान को किसी भी सूरत में चालू नहीं होने दिया जायेगा । 20 जून को जिले के चारो परियोजना मुख्यालय पर प्रदर्शन किया जायेगा – कुलदीप ऊर्जाधानी भूविस्थापत किसान कल्याण समिति के अध्यक्ष सपुरन कुलदीप ने कहा है कि 2010 में कोल इंडिया के गाइड लाइन के अनुसार 30 मई 2018 को एसईसीएल की फंक्शनल डायरेक्टर्स की बोर्ड ने सराईपाली खुली खदान परियोजना से स्थानीय भुविस्थापितो को कोयला लदान एवं परिवहन कार्य में 20 प्रतिशत कार्य आबंटित किया जायेगा किन्तु अब खुला ई टेंडर जारी कर भुविस्थापितों को दिए गए अधिकार से वंचित कर दिया गया है जिसके खिलाफ आंदोलन किया जा रहा है जिसका विस्तार करते हुए जिले के सभी क्षेत्रीय मुख्यालय में 20 जून को एक साथ प्रदर्शन कर खदान बंद करने का नोटिस दिया जायेगा ।


Popular posts
शरीर को डिटॉक्स करने का एक बेहतरीन तरीका, तलवों पर एक खास तरह की मिट्टी लगाना,
Image
अब देश के चोर भी हो गए हाईटेक - राजधानी एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों में चोरी करने के लिए प्लेन से आता था चोर
Image
समता और चौबे कॉलोनी में मिले कोरोना पॉजिटिव, निगम टीम ने प्रभावित क्षेत्रों को किया सेनेटाइज्ड
Image
केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव - छत्तीसगढ़ में कोरोना का पॉजिटिविटी रेट बढ़ा, और बढ़कर लगभग 28% हो गया
Image
ईद-उल-अजहा पर्व पर आज विधायक कुलदीप जुनेजा और छत्तीसगढ़ विशेष के सम्पादक मनप्रीत सिंह ने सभी प्रदेशवासियों को बधाई देते कहा कि ईद-उल-अजहा पर्व हमे भाईचारा एवं एकजुटता का संदेश देता है
Image
रायपुर , पूर्व विधायक श्री बैजनाथ चन्द्राकर ने करोना संक्रमण को देखते हुए छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी बैंक (अपेक्स बैंक) के प्राधिकारी के साथ मुख्यमंत्री सहयता कोष मे 10.00 लाख की राशि दी
Image
सर्दियों में सॉफ्ट और खूबसूरत स्किन के लिए फॉलो करें ये जरूरी टिप्स, कोमल बनेगी त्वचा, ग्लो रहेगा बरकरार
Image
एक थाली के पैसे देकर 2 थाली मुफ़्त, मंजू ममता रेस्टोरेंट का फेसबुक में विज्ञापन देख, लालच में पिता-पुत्री के खाते से उड़े हज़ारों --- रायपुर पुलिस ने धोखाधड़ी का अपराध किया दर्ज
Image
प्रदेश के गृह,पीडब्ल्यूडी, पर्यटन, संस्कृति मंत्री ताम्रध्वज साहू ने अंतर्राष्ट्रीय प्रेस स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर दी मीडिया को बधाई एवं शुभकामनाएं दी
Image
कोरोना के बाद चीन में फैली एक और महामारी, लगी इमरजेंसी
Image