अचानक पाकिस्तान पहुंचे तो कभी सर्जिकल स्ट्राइक, पीएम मोदी के इन फैसलों ने चौंकाया


Report manpreet singh 


Raipur chhattisgarh VISHESH :अपने फैसलों से चौंकाना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फितरत में शामिल है। शुक्रवार को अचानक लेह की यात्रा प्रधानमंत्री के चौंकाने वाले फैसलों की एक और कड़ी है। साल 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी ने राजनीतिक, सामरिक और कूटनीतिक फैसलों से देश और दुनिया को चौंकाया है।


पड़ोसी देशों को न्योता: साल 2014 में जब मोदी प्रधानमंत्री बने तो सभी को पड़ोसी पाकिस्तान के साथ शीतयुद्ध की आशंका थी। हालांकि, शपथ ग्रहण समारोह में सभी सार्क देशों के शासनाध्यक्षों को न्योता देकर पीएम ने चौंका दिया। तब किसी को उम्मीद नहीं थी कि पीएम अपने शपथ ग्रहण समारोह में पाकिस्तान को भी न्योता देंगे।


अचानक पहुंचे पाकिस्तान: हालांकि, सीमापार आतंकवाद के मामले में पाकिस्तान की पूर्व की नीति बहाल रहने के कारण दोनों देशों के बीच बेहतर रिश्ते परवान नहीं चढ़े। इसी बीच इसी साल 2015 के 15 दिसंबर को अफगानिस्तान से स्वदेश वापसी के क्रम में पीएम मोदी ने अचानक पाकिस्तान में नवाज शरीफ से मुलाकात कर सबको चौंका दिया।


सर्जिकल स्ट्राइक: उड़ी में आतंकवादियों के हमले में सेना के कई जवानों के शहीद होने के बाद देश में राजनीति चरम पर थी। इसी बीच अचानक सेना ने 28-29 सितंबर की रात पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया। उस समय तक किसी को अंदाजा नहीं था कि पीएम पाकिस्तान के खिलाफ इस स्तर का फैसला ले सकते हैं।


एयर स्ट्राइक: 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में सीआरपीएफ के खिलाफ आतंकी हमले पर पूरा देश गुस्से में था। लोकसभा चुनाव करीब होने के कारण सरकार पर विपक्ष का सियासी हमला बढ़ गया था। इसके बाद जो हुआ उससे पूरा देश हतप्रभ रह गया। वायुसेना के जवानों ने पुलवामा हमले का जवाब 26 फरवरी 2019 को बालाकोट पर एयर स्ट्राइक से दिया। वायुसेना ने लड़ाकू विमान मिराज 2000 की सहायता से बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के कई ठिकानों को नष्ट कर दिया।


सामान्य आरक्षण: जनवरी 2019 में मोदी सरकार ने जो किया उसकी उम्मीद किसी को नहीं रही होगी। एससी-एसटी एक्ट के प्रावधानों पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा किए गए बदलाव पर सरकार की ओर से लगाई गई रोक से सवर्ण वर्ग नाराज था। इसी दौरान मोदी सरकार ने आनन फानन में सामान्य वर्ग को दस फीसदी का आरक्षण संसद से पारित करा कर सभी को हतप्रभ कर दिया।


अनुच्छेद 370: जम्मू-कश्मीर में अतिरिक्त सेना और अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती पर कई तरह के कयास लगाए जा रहे थे। हालांकि, किसी को अंदाजा नहीं था कि वहां क्या होने वाला है। इसी बीच अचानक 16 अगस्त 2019 को मोदी सरकार संसद में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निरस्त करने का प्रस्ताव ले आई। इसे आसानी से पारित भी करा लिया।


बीते चार साल से सेना के साथ दिवाली: बीते चार साल से मोदी अचानक बिना किसी पूर्व कार्यक्रम के सेना के साथ अपनी दीवाली मनाते आ रहे हैं। यह सिलसिला साल 2016 से शुरू हुआ और अब तक जारी है। पीएम ने वर्ष 2016 में लाहौल स्पीति में, साल 2017 में जम्मू-कश्मीर के गुरेज सेक्टर में, साल 2018 में उत्तराखंड के हरसिल में तो बीते साल जम्मू-कश्मीर के राजौरी में सेना के साथ अपनी दिवाली मनाई। हर बार इस कार्यक्रम की किसी को भनक नहीं लगी।


Popular posts
फेफड़ों को स्वस्थ और साफ रखने के लिए इन चीज़ों का रोजाना करें सेवन
Image
ईद-उल-अजहा पर्व पर आज विधायक कुलदीप जुनेजा और छत्तीसगढ़ विशेष के सम्पादक मनप्रीत सिंह ने सभी प्रदेशवासियों को बधाई देते कहा कि ईद-उल-अजहा पर्व हमे भाईचारा एवं एकजुटता का संदेश देता है
Image
अखिर कार 4 हजार करोड़ की लागत से डोंगरगढ़-कवर्धा-कटघोरा रेल लाइन को रेल मंत्रालय ने मंजूरी दी,जल्द दौड़ेगी ट्रेन
Image
छत्तीसगढ़ विशेष के सम्पादक मनप्रीत सिंह ने राज्य के संसदीय सचिव एवं महासमुंद विधायक विनोद चंद्राकर जी को जन्म दिन की शुभकामनाये देते हुए जल्दी स्वस्थ होने की कामना की
Image
विवादों के बीच BMC ने ध्वस्त किया कंगना रनौत का ऑफिस - बॉम्बे हाईकोर्ट ने कंगना रनौत के दफ्तर में तोड़फोड़ पर लगाई रोक
Image
हाथों पर ज्यादा सेनिटाइज़र का इस्तेमाल करते हैं तो इस तरह रखें ख्याल
Image
मुंगेली जिला कलेक्टर ने आदेश जारी कर 17 से 23 सितंबर के बीच कम्प्लीट लॉकडाउन करने का फैसला लिया
Image
लोन मोरेटोरियम को लेकर, बैंक ‘लोन रिस्ट्रक्चरिंग’ के लिए स्वतंत्र है - सुप्रीम कोर्ट ने कहा
Image
हास्य केंद्र योग के दसवें स्थापना वर्ष में शामिल हुए विधायक कुलदीप जुनेजा
Image
न्यूज पब्लिशर्स को कंटेंट के लिए पैसे देगा गूगल - अगले तीन साल में 01 अरब डॉलर देने का प्लान
Image