दुर्ग जिले के गांव में रहकर 30 लाख के टर्न ओवर की बेकरी चलाने वाली वर्षा , खुद के पैरों में खड़े होकर दर्जनों को दे रही रोजगार


Report manpreet singh 


Raipur chhattisgarh VISHESH :गांव में रहकर 30 लाख के टर्न ओवर की बेकरी चलाने वाली ये है दुर्ग जिले की वर्षा, खुद के पैरों में खड़े होकर दर्जनों को दे रही रोजगार l वर्षा अभी बेकरी के 50 तरह के उत्पाद तैयार कर रही हैं। उन्होंने बताया कि ब्रेड के साथ ही क्रीम रोल, पेस्ट्री, केक आदि विभिन्न तरह के बेकरी आइटम तैयार करती हैं। वर्षा शर्मा एक छोटे से गांव उरला की महिला उद्यमी हैं। छोटे से बेकरी व्यवसाय से आरंभ कर अब बड़ी विनिर्माण ईकाई का सपना वर्षा पूरा कर चुकी हैं। मात्र 2 साल पहले उन्होंने अपना सेटअप डाला और आज उनकी विनिर्माण ईकाई में 30 लोग काम कर रहे हैं। इसके पीछे वर्षा का परिश्रम, हुनर और उद्यमशीलता तो है ही, जिला व्यापार एवं उद्यम केंद्र के अधिकारियों की भी बड़ी भूमिका है। जिन्होंने वर्षा को इस उद्यम के लिए लगातार उत्साहित किया। वर्षा ने 22 लाख का लोन पीएमईजीपी के तहत लिया। इसमें आठ लाख 75 हजार का अनुदान उन्हें मिला। आज उनके उद्यम का टर्न ओर 30 लाख से ज्यादा का है।



50 तरह के उत्पाद तैयार कर रही वर्षा


वर्षा अभी बेकरी के 50 तरह के उत्पाद तैयार कर रही हैं। उन्होंने बताया कि ब्रेड के साथ ही क्रीम रोल, पेस्ट्री, केक आदि विभिन्न तरह के बेकरी आइटम तैयार करती हैं। उन्होंने बताया कि वे वेज केक तैयार करती हैं। बहुत सारे लोग अंडे वाला केक नहीं पसंद करते। ऐसे में दुकानदारों के पास वेज केक का आप्शन उपलब्ध होने से इसकी बिक्री अच्छी हो जाती है।


सफलता का राज गुणवत्ता से समझौता नहीं


वर्षा ने बताया कि वे उत्पाद की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देते हैं क्योंकि बेकरी के बिजनेस में गुणवत्ता सबसे अहम है। थोड़ा भी गुणवत्ता कम होने पर हम इसे नष्ट कर देते हैं। इस प्रकार अच्छे उत्पाद देकर, सप्लाई चेन को बेहतर कर हम लोग निरंतर बड़े बाजार को कैप्चर कर रहे हैं।


गांव में रहकर 30 लाख के टर्न ओवर की बेकरी चलाने वाली ये है दुर्ग जिले की वर्षा, खुद के पैरों में खड़े होकर दर्जनों को दे रही रोजगार


संभावनाओं के आधार पर करें चयन 


वर्षा का कहना है कि दृढ़ प्रयास करो तो सफलता मिलती है। साथ ही आपको व्यावसायिक संभावनाओं के आधार पर बिजनेस का चयन करना चाहिए। महिला उद्यमियों के लिए अनंत संभावनाएं हैं क्योंकि सरकार भी चाहती है कि महिला सशक्तिकरण हो। उन्होंने बताया कि उनके उद्यम में आधी संख्या महिलाओं की हैं।


अवसर पर्याप्त, आगे आएं उद्यमी


जिला व्यापार एवं उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक राजीव शुक्ला ने बताया कि उद्यमियों को आगे बढ़ाने विभाग प्रतिबद्ध हैं। हम उद्यम के इच्छुक लोगों के प्रकरण भी तैयार कराते हैं और मार्गदर्शन भी प्रदान करते हैं।


Popular posts
हाथी के गोबर से बनी इस चीज का सेवन आप रोज करते हो.. जाने कैसे
Image
वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, व्यापक स्तर पर ‘लॉकडाउन’ लगाने का विचार नहीं - महामारी की रोकथाम के लिये केवल स्थानीय स्तर पर नियंत्रण के कदम उठाये जाएंगे
Image
लॉकडाउन के बाद घर पर पोछा लगाते दिखी एक्ट्रेस हिना खान
Image
मशहूर डिजाइनर सुनील सेठी खादी और ग्रामोद्योग आयोग के सलाहकार नियुक्त
Image
सख्त निर्देशों के साथ प्रदेश में शुरू हुआ जरूरी कामकाज - मुंह ढकना जरूरी, थूकने पर जुर्माना , पान मसाला, गुटखा प्रतिबंधित, दुकानों में दो से अधिक का जमवाड़ा वर्जित
Image