लॉकडाउन के साथ ही छत्तीसगढ़ विशेष का आम जनता को अपील, घर मे रहे सुरक्षित रहे छत्तीसगढ़ राज्य को बहुत जल्द होना होगा कोरोना मुक्त, साथ ही देखे इम्यूनिटी को कैसे बढ़ाएं --- मनप्रीत सिंह, सम्पादक


Report manpreet singh 


Raipur chhattisgarh VISHESH : रायपुर में फैले कोरोना वायरस से बचाव को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार द्वारा,राज्य शाशन द्वारा रायपुर में लॉकडाउन किया गया है l छत्तीसगढ़ विशेष का आम जनता को अपील /आग्रह है कि , घर मे रहे सुरक्षित रहे ,हमारे ऐसा करने पर छत्तीसगढ़ राज्य को बहुत जल्द होना होगा कोरोना मुक्त l


जहा कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए प्रशासन द्वारा मुस्तेदी से कार्य किया जा रहा है। वही छत्तीसगढ़ विशेष भी इस कार्य मे लगातार प्रयासरथ है, छत्तीसगढ़ विशेष अपने पाठकों को  इस विषय मे हमेशा बताते रहाता है  , इसी सिलसिले में कोविड-19 की जांच के लिए अब छत्तीसगढ़ सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए एक बड़ा फैसला लिया है।अब रायपुर में कोविड केयर सेंटर ठेके पर चलाए जाएंगे।


क्या आप जानते हैं कि आपके खुले में थूकने से हवा और सतह पर मौजूद थूक की लार से COVID-19 बीमारी के फैलने का खतरा होता है. सतर्क रहें, सार्वजनिक स्थानों पर न थूकें lसार्वजनिक स्थानों पर थूकना अशोभनीय और बुरी आदत है. इसे तुरंत त्यागें और एक ज़िम्मेदार नागरिक बनें. सतर्क रहेंक्या आपको बुखार, साँस लेने में तकलीफ, खाने में स्वाद न होने या खाँसी जैसे लक्षण हैं? यदि हां तो राज्य सरकार की हेल्पलाइन 104 पर तुरंत कॉल कर डॉक्टर से सीधे परामर्श प्राप्त करें। जरूरी है आज हमे सोशल दूरी बना कर रखने की l


कोरोना वायरस की वजह से अब तक छह लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि दुनियाभर में संक्रमित लोगों की संख्या 1.46 करोड़ के पार चली गई है। अभी तक इसकी वैक्सीन तो नहीं बन पाई है, लेकिन लोग इससे बचने के लिए तरह-तरह के उपाय जरूर कर रहे हैं। इन्ही उपायों में शामिल है शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यूनिटी को बढ़ाना।


साथ ही जरूरत है हमे  इम्यूनिटी को बढ़ाएं, जिससे कोरोना वायरस के संक्रमण से बचा जा सके या फिर अगर संक्रमित हो गए हैं तो जल्द से जल्द ठीक हो सकें। आयुष मंत्रालय ने भी अपनी वेबसाइट पर इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए 11 उपाय बताए हैं, जो कोरोना से बचने में कारगर साबित हो सकते हैं। आइए जानते हैं क्या हैं वो उपाय… 


आयुष मंत्रालय की ओर से बताए गए सामान्य उपाय


पूरे दिन गर्म पानी पिएं


आयुष मंत्रालय के अलावा आईसीएमआर की ओर से भी थोड़ी-थोड़ी देर में गर्म पानी पीने की सलाह दी गई है। आयुर्वेद में इसके फायदों के बारे में बताया गया है कि गर्म पानी पीने से जठराग्नि सही रहती है और बीमारियां नहीं होतीं। गर्म पानी पीने से वायरस के इंट्री पॉइंट यानी गले में वायरस अपनी संख्या नहीं बढ़ा पाते हैं और शरीर को प्रभावित नहीं कर पाते हैं।


रोजाना योग करें


घर पर ही रहकर रोजाना योगासनों का अभ्यास करें। कम से कम 30 मिनट तक प्राणायाम और योगासन करें। अब ये तो आप जानते ही होंगे कि योग करने से शरीर स्वस्थ रहता है और स्वस्थ शरीर में कभी बीमारियां प्रवेश नहीं करतीं। 


खाने में इन मसालों का करें इस्तेमाल 


खाना पकाने में हर रोज हल्दी, जीरा, धनिया और लहसुन जैसे मसालों का इस्तेमाल जरूर करें। हालांकि इनकी मात्रा सीमित होनी चाहिए, क्योंकि ज्यादा मात्रा में मसालों का सेवन नुकसान भी पहुंचा सकता है।


च्यवनप्राश का करें सेवन


आयुष मंत्रालय के मुताबिक, हर रोज सुबह-सुबह एक चम्मच यानी करीब 19 ग्राम च्यवनप्राश का सेवन जरूर करें। हालांकि जो लोग डायबिटीज से पीड़ित हैं, वो शुगरफ्री च्यवनप्राश का सेवन कर सकते हैं। 


काढ़े का करें सेवन


कोरोना से बचने में काढ़ा अहम भूमिका निभा सकता है। आयुष मंत्रालय ने बताया है कि इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए तुलसी, काली मिर्च, दालचीनी, सौंठ और मुनक्का का काढ़ा बनाकर दिन में एक या दो बार उसका सेवन जरूर करें। आप अपनी जरूरत के हिसाब से उसमें गुड़ या नींबू का रस भी मिला सकते हैं। 


हल्दी दूध का करें सेवन


दिन में एक या दो बार हल्दी दूध का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है। इसके लिए लगभग 150 ग्राम दूध में आधा चम्मच हल्दी मिलाएं और उसे पी जाएं। हल्दी दूध तो वैसे भी शरीर के लिए फायदेमंद ही होता है। इसका इस्तेमाल भारत में सदियों से होता आया है।


इम्यूनिटी बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय


ऐसे करें तेल का इस्तेमाल


नारियल तेल, तिल का तेल या घी को दोनों नासिका छिद्रों (नाक के छेद) में लगाएं। ऐसा दिन में एक या दो बार सुबह या शाम को करें। इससे काफी फायदा मिलेगा। 


एक चम्मच तिल का तेल या नारियल के तेल को मुंह में भरें और उसे दो-तीन मिनट तक मुंह में ही घुमाएं। फिर उसे उगल दें। इसके बाद गर्म पानी से कुल्ला करें। ऐसा दिन में एक या दो बार करना फायदेमंद साबित हो सकता है।


गले में खरास होने या खांसी आने पर क्या करें?


अजवाइन या पुदीने की भाप दिन में एक या दो बार लें।


खांसी आने या गले में खरास होने पर लौंग पाउडर को शहद या शक्कर में मिलाकर दिन में दो से तीन बार उसका सेवन करें।


ये उपाय आम तौर पर सामान्य सूखी खांसी और गले में खराश का इलाज करते हैं। हालांकि, इन लक्षणों के बने रहने पर डॉक्टरों से परामर्श करना सबसे अच्छा है


 


 


 


Popular posts
हाथी के गोबर से बनी इस चीज का सेवन आप रोज करते हो.. जाने कैसे
Image
राजधानी रायपुर से लगी खारून नदी के किनारे कुम्हारी से अमलेश्वर तक बनेगी 8 किमी नई सड़क
Image
सर्दियों में सॉफ्ट और खूबसूरत स्किन के लिए फॉलो करें ये जरूरी टिप्स, कोमल बनेगी त्वचा, ग्लो रहेगा बरकरार
Image
छत्तीसगढ़ में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, पुलिस ने 6 लोगों को किया गिरफ्तार
Image
PACL के 12 लाख निवेशकों को 429 करोड़ रुपये से ज्‍यादा का पेमेंट किया जा चुका है। इनमें ज्यादातर छोटे निवेशक हैं, जिन्होंने कंपनी पर 10,000 रुपये तक का दावा किया था - बैंक खाते में भेजे पैसे l
Image
छत्तीसगढ़ में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, कचरा गोदाम खुलवाया गया तो युवकों ने पुलिस पर हमला करने की कोशिश मगर फोर्स को हावी होता देख, ठंडे पड़ गए और 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया
Image