बिलासपुर के CIMS ( छत्तीसगढ़ इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल सांइस) के अस्पताल प्रबंधन की एक बड़ी लापरवाही -- सिम्स में लाशों की अदला-बदली, एक को कोरोना तो दूसरा संदिग्ध एक के परिजनों ने अंतिम संस्कार

 


Report manpreet singh 

Raipur chhattisgarh VISHESH : सिम्स में लाशों की अदला-बदली, एक को कोरोना तो दूसरा संदिग्ध एक के परिजनों ने अंतिम संस्कार भी कर दिया। दूसरे की फैमिली जब बॉडी लेने अस्पातल पहुंची प्रबंधन के होश फाख्ता हो गए बिलासपुर के CIMS ( छत्तीसगढ़ इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल सांइस) के अस्पताल प्रबंधन की एक बड़ी लापरवाही उजागर हुई है। अस्पताल में दो मरीजों की मौत् हुई। एक मृतक कोरोना पॉजिटिव तो दूसरे कोरोना संदिग्ध। एक की डेडबॉडी दूसरे मृतक की फैमिली को दे दी गई, जबकि दूसरे मृतक की बॉडी पहले की फैमिली को दे दी गई। एक के परिजनों ने अंतिम संस्कार भी कर दिया। दूसरे की फैमिली जब बॉडी लेने पहुंची प्रबंधन के होश फाख्ता हो गए। 24 घटें बॉडी की तलाश में मशक्कत करने के बाद इस लापरवाही का खुलासा हुआ है। जानकारी के अनुसार, मृतक सृष्टिचरण मजूमदार की बॉडी सिम्स प्रबंधन ने अग्रवाल परिवार को सौंप दिया। अग्रवाल परिवार ने मजूमदार का अंतिम संस्कार कर दिया। बाद में स्वास्थ्य विभाग की एक टीम मजूमदार फैमिली के पास पहुंची और उन्हें बताया गया कि जिस बॉडी की वे अंतिम संस्कार की तैयारी कर रहे हैं, वे सृष्टिचरण् मजूमदार की नहीं, बल्कि बालकृष्ण अग्रवाल की है। अग्रवाल परिवार को बालकृष्ण अग्रवाल की डेडबॉडी तो मिल गई, लेकिन इधर मजूमदार परिवार सृष्टिचरण मजूमदार की डेडबॉडी न मिलने से दुखी है। उन्हें अंतिम दर्शन तक न कर पाने का बड़ा द़ुख है। इस संबंध में सिम्स प्रबंधन के तमाम जिम्मेदार अधिकारियों को उनका पक्ष जानने के लिए फोन लगाया गया, लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया, बल्कि मैसेज में घटना की जानकारी और लापरवाही पर अनभिज्ञता जताई है। कह रहे हैं कि कल मीडिया से बातचीत करके अपना जवाब साझा करेंगे।

Popular posts
चाणक्य नीति के अनुसार सच्चे मित्र की ऐसे करें पहचान…नहीं मिलेगा जीवन में कभी धोखा
Image
बार बंद तो घर में शुरू कर दी हुक्का पार्टी -पुलिस ने की छापेमारी -धरे गए हुक्का पीते 11 रईसजादे
Image
राजधानी रायपुर से लगी खारून नदी के किनारे कुम्हारी से अमलेश्वर तक बनेगी 8 किमी नई सड़क
Image
सर्दियों में सॉफ्ट और खूबसूरत स्किन के लिए फॉलो करें ये जरूरी टिप्स, कोमल बनेगी त्वचा, ग्लो रहेगा बरकरार
Image
महिला कांस्टेबल ने साथ क्वारेंटीन होने BF को बनाया नकली पति, तभी आ पहुंची असली पत्नी फिर जो हुआ...
Image
PACL के 12 लाख निवेशकों को 429 करोड़ रुपये से ज्‍यादा का पेमेंट किया जा चुका है। इनमें ज्यादातर छोटे निवेशक हैं, जिन्होंने कंपनी पर 10,000 रुपये तक का दावा किया था - बैंक खाते में भेजे पैसे l
Image
हाथी के गोबर से बनी इस चीज का सेवन आप रोज करते हो.. जाने कैसे
Image