दल्ली माइंस से सरकार अरबों कमा रही उसके लाल पानी से तबाह हो गए हजारों किसान, न नौकरी मिली न ही बंजर जमीन पर फसल उपजी


Report manpreet singh 


Raipur chhattisgarh VISHESH : बालोद , जिस दल्ली माइंस से सरकार अरबों कमा रही उसके लाल पानी से तबाह हो गए हजारों किसान, न नौकरी मिली न ही बंजर जमीन पर फसल उपजी l बालोद जिले के आज भी सैकड़ों आदिवासी किसानों को उनका हक नहीं मिल पाया है। उनकी कृषि जमीन दल्लीमाइंस से निकलने वाले लाल पानी के कारण बंजर हो गई है।


  जिले के आज भी सैकड़ों आदिवासी किसानों को उनका हक नहीं मिल पाया है। उनकी कृषि जमीन दल्लीमाइंस से निकलने वाले लाल पानी के कारण बंजर हो गई है। कई गांव लाल पानी से प्रभावित है। जहां की नल से भी लाल पानी निकलता है। यहां लाल पानी से बचाने के लिए लगाए गए कई फिल्टर प्लांट भी बंद है। यहां के नारराटोला, धोबेदंड, आड़ेझर, मलकुंवर, झिकाटोला, कुंजामटोला सहित डौंडी ब्लॉक के लगभग 12 से अधिक गांव लाल पानी से प्रभावित हैं। इस समस्या से छुटकारा पाने हर साल कलेक्टर, जनदर्शन एवं जनसमस्या निवारण शिविर में ज्ञापन भी सौंप चुके हैं। आंदोलन भी हुआ। प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री को भी अवगत कराया लेकिन कोई समाधान आज तक नहीं हुआ।


आदिवासियों का जीवन स्तर सुधार रहे


मंत्री अनिला भेडिय़ा ने कहा कि आदिवासियों के जीवन स्तर को सुधारने का काम किया जा रहा है। लाल पानी से प्रभावित लोगों की समस्याओं को दूर करने जिला प्रशासन को निर्देश दिए गए हैं। जिससे उन्हें राहत मिले। इसके अलावा आदिवासी क्षेत्रों में महिलाओं को भी विभिन्न योजनाओं के तहत आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है।


सिर्फ कागजों में समस्याओं का हल


आदिवासी समाज की बैठकों में समाज के किसानों के साथ अन्य किसानों पर चर्चा होती है, जो लाल पानी से प्रभावित हैं। बीते साल आड़ेझर, मलकुंवर के सैकड़ों किसान नल से निकलने वाले लाल पानी को लेकर कलेक्टोरेट पहुंचे थे। ग्रामीण सूरज राम ने बताया कि इन दोनों गांव की लगभग 1 हजार किसानों की 500 हेक्टेयर की कृषि भूमि प्रभावित है।


कई सोलर फिल्टर प्लांट भी खराब 


क्रेडा विभाग ने लाल पानी से प्रभावित लोगों को साफ पानी उपलब्ध कराने 73 जगहों पर सोलर फिल्टर प्लांट लगाया गया। इनमें से कुछ तो देखरेख के अभाव में खराब हो गए। जिसके कारण नियमित साफ पानी नहीं मिल पाता है।


हर साल होता है आंदोलन


प्रभावित किसान, उनके परिजन व ग्रामीणों ने खेती की जमीन बचाने, प्रभावितों को बीएसपी में नौकरी देने के लिए आंदोलन भी किया। आंदोलन ज्यादा समय तक चलता है तो जिम्मेदार अधिकारी आश्वासन दे देते हैं। लेकिन समस्याएं दूर नहीं होती। हर साल प्रभावित किसान अपनी मांगों को लेकर आंदोलन करते हैं।


खनिज न्यास निधि का करें सही उपयोग 


सर्व आदिवासी समाज बालोद के अध्यक्ष गजानंद प्रभाकर ने कहा कि जिले में भी आदिवासी समाज के लोग उपेक्षित हैं। शासन-प्रशासन को भी आदिवासी समाज के हितों व समस्याओं के विषय में अवगत कराया है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं होती है, जो दुखद है। हर साल सभा में समाज के विभिन्न मुद्दों पर चर्चाएं होती हैं। अधिकारियों को समस्या सुलझाने ज्ञापन सौंपते हैं। समस्याओं का निराकरण ही नही होता। डौंडी विकासखंड के दर्जनों गांव हैं, जहां किसान लाल पानी से प्रभावित हैं। सरकार व जिला प्रशासन चाहे तो खनिज न्यास निधि को फिजूल कामों में न लगाकर प्राभवित क्षेत्रों में खर्च करें। समस्याओं को दूर भी करें। ताकि उन्हें राहत मिल सके।


Popular posts
ईद-उल-अजहा पर्व पर आज विधायक कुलदीप जुनेजा और छत्तीसगढ़ विशेष के सम्पादक मनप्रीत सिंह ने सभी प्रदेशवासियों को बधाई देते कहा कि ईद-उल-अजहा पर्व हमे भाईचारा एवं एकजुटता का संदेश देता है
Image
फेफड़ों को स्वस्थ और साफ रखने के लिए इन चीज़ों का रोजाना करें सेवन
Image
अखिर कार 4 हजार करोड़ की लागत से डोंगरगढ़-कवर्धा-कटघोरा रेल लाइन को रेल मंत्रालय ने मंजूरी दी,जल्द दौड़ेगी ट्रेन
Image
हास्य केंद्र योग के दसवें स्थापना वर्ष में शामिल हुए विधायक कुलदीप जुनेजा
Image
CG VESHESH SPECIAL : "मानव सेवा उत्तम सेवा " स्वैच्छिक कर्फ्यू में सेवा करते गुरुद्वारा गुरु सिंग सभा पंडरी रायपुर के सेवादार
Image
छत्तीसगढ़ विशेष के सम्पादक मनप्रीत सिंह ने राज्य के संसदीय सचिव एवं महासमुंद विधायक विनोद चंद्राकर जी को जन्म दिन की शुभकामनाये देते हुए जल्दी स्वस्थ होने की कामना की
Image
नगर पंचायत छुईखदान के अध्यक्ष दीपाली जैन द्वारा सीएमओ को कथित रूप से धमकी देने का ऑडियो, ऑडियो में कहा लाखों खर्च किया है चुनाव में, वायरल होने के बाद मचा बवाल
Image
आइए सच्चाई जाने इस बात की --- क्या हर कोरोना मरीज के पीछे केंद्र सरकार से मिलेंगे 1.5 लाख रुपये ?
Image
एक आदमी की मौत पर मार डाले 300 से ज्यादा घड़ियाल, हैरतअंगेज है वारदात
Image
मुख्यमंत्री भूपेश ने कहा, यह दुर्भाग्यजनक घटना है.. गायों की मौत मामले में कलेक्टर को दिए कार्रवाई के निर्देश
Image