विकास दुबे के ‘फाइनेंसर’ के मकान में फ्री में रह रहे थे तीन दारोगा --- आईजी ने किया सस्पेंड


Report manpreet singh 


Raipur chhattisgarh VISHESH : कुख्यात विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद भी इस केस में रोज नए नए खुलासे होते जा रहे हैँ।पुलिस को जांच में पता चला है कि विकास दुबे के खास गुर्गे और उसके फाइनेंसर के तौर पर पैसे रुपयों का काम संभालने वाले जय वाजपेयी के एक मकान में तीन दाराेगा बिना पैसा दिए रहते थे।


आईजी रेंज के आदेश पर तीनों को निलम्बित किया गया है। इसके अलावा तीनों की विभागीय जांच भी शुरू कर दी गई है।आईजी रेंज मोहित अग्रवाल ने बताया कि उन्हें जनता से ही शिकायत मिली थी कि ब्रह्मनगर में जय बाजपेई का एक मकान है। जिसपर केडीए में विवाद चल रहा है। मगर वहां पर पुलिस कर्मी रह रहे हैं जिसके कारण उस मकान पर कार्रवाई करने में मुश्किले आ रही हैं।


इस शिकायत को अधिकारी ने गम्भीरता से लिया और सीओ नजीराबाद गीतांजलि सिंह को मामले की जांच सौंपी। आईजी से निर्देश मिलने के बाद सीओ ने ब्रह्मनगर स्थित जय के विवादित मकान में छापेमारी की।


छापेमारी के दौरान वहां पर कर्नलगंज थाने में तैनात एसआई राजकुमार, अनवरगंज थाने में तैनात एसआई उसमान अली और रायपुरवा थाने में तैनात खालिद वहां पर रह रहे थे। तीनों से पूछताछ और जांच में पता चला कि पुलिस कर्मी मुफ्त में वहां रह रहे थे। सीओ ने रिपोर्ट आईजी को सौंप दी। इसके बाद उन्होंने तीनों को निलम्बित करने और विभागीय कार्रवाई के आदेश दिए।


लखनऊ के बापू भवन स्थित एसआईटी दफ्तर में ब्रह्मनगर से एडवोकेट संजय भदौरिया, सूरज, बलराम और सक्षम अवस्थी ने गुरुवार को बयान दर्ज कराए।वहीं बिकरू से भी जाकर चार ग्रामीणों ने बयान दर्ज कराए। इस दौरान एक निवासी ने एसआईटी को आपबीती सुनाई कि जय ने कुख्यात विकास दुबे के साथ मिलकर उसका घर गिरवाकर जमीन पर कब्जा कर लिया। कई बार थाने में शिकायत की गई मगर कोई कार्रवाई नहीं हुई।


ब्रह्मनगर निवासी सूरज निषाद और बलराम ने टीम को बताया कि जय अपने गिरोह के अन्य सदस्यों के साथ मिलकर उनका 40 साल पुराना घर हथियाना चाहता था। तमाम तरीके से उन पर दवाब बनाया गया। जब वह नहीं माने तो मारपीट की गई।फिर विकास दुबे ने आकर मकान खाली करने का दवाब बनाया। उन्होंने पुलिस से शिकायत की तब तत्कालीन बजरिया इंचार्ज और एक दरोगा ने भी उन्हीं लोगों का साथ दिया। इससे आरोपितों के मन बढ़ गए और नगर निगम के अपने लोगों के साथ मिलकर घर गिरवा दिया।


उनकी जमीन पर कब्जा करके 32 लाख में एक प्रिंटर वाले से सौदा कर दिया गया। कई बार इसे लेकर थाने में शिकायत की गई मगर कोई सुनवाई नहीं हुई।जय और उसके गुर्गे इलाके में दबदबा कायम करने के लिए जबरदस्ती मारपीट भी कर लेते थे। इसे लेकर ब्रह्मनगर निवासी सक्षम अवस्थी ने टीम को एक सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध कराया।


उन्होंने बताया कि कैसे जय ने अपने भाइयों और गुर्गों के साथ क्षेत्र के लोगों का जीना हराम कर दिया था।एडवोकेट सौरभ भदौरिया ने एसआईटी को 16 पुलिसकर्मियों के नाम सौंपे जिन्होंने जय के आपराधिक मामलों में उसकी मदद की।


उसे कानूनी कार्रवाई से बचाया। उन पुलिस वालों पर कार्रवाई क्यों नहीं हुई? इस सवाल के जवाब में एडवोकेट ने टीम को बताया कि उनके खिलाफ मौखिक कार्रवाई हुई है।


Popular posts
हास्य केंद्र योग के दसवें स्थापना वर्ष में शामिल हुए विधायक कुलदीप जुनेजा
Image
स्किन और हेयर प्रॉब्लम्स से बचने के लिए डाइट में लें विटामिन ई का करे प्रयोग
Image
ईद-उल-अजहा पर्व पर आज विधायक कुलदीप जुनेजा और छत्तीसगढ़ विशेष के सम्पादक मनप्रीत सिंह ने सभी प्रदेशवासियों को बधाई देते कहा कि ईद-उल-अजहा पर्व हमे भाईचारा एवं एकजुटता का संदेश देता है
Image
सर्दियों में सॉफ्ट और खूबसूरत स्किन के लिए फॉलो करें ये जरूरी टिप्स, कोमल बनेगी त्वचा, ग्लो रहेगा बरकरार
Image
शरीर को डिटॉक्स करने का एक बेहतरीन तरीका, तलवों पर एक खास तरह की मिट्टी लगाना,
Image
सीएम, स्वास्थ्य और गृह मंत्री शामिल हुए #MeAt20 चैलेंज में , की अपनी फोटो पोस्ट
Image
खारुन नदी तट के पुरातात्विक स्थलों से बनेगी छत्तीसगढ़ की विश्व में पहचान….!!
Image
वन विभाग के कार्यालयों में उप वन क्षेत्रपाल/वन पाल/ वन रक्षक से लिपकीय कार्य नही लिये जाने का फरमान जारी
Image
रायपुर , पूर्व विधायक श्री बैजनाथ चन्द्राकर ने करोना संक्रमण को देखते हुए छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी बैंक (अपेक्स बैंक) के प्राधिकारी के साथ मुख्यमंत्री सहयता कोष मे 10.00 लाख की राशि दी
Image
शराब दुकान में घुसकर रात भर पीता रहा
Image