प्रदेश में लॉकडाउन के बीच नशे के कारोबार को अंजाम देने के मामले में डीजीपी डीएम अवस्थी ने सख्त फरमान जारी - नशे के सौदागर मिलने पर थानेदारों की भी होगी जांच, अगर कहीं भी उनकी संलिप्तता पाई गई तो सीधे निलंबन .


Report manpreet singh 

 Raipur chhattisgarh VISHESH : डीजीपी बोले- नशे के सौदागर मिलने पर थानेदारों की भी होगी जांच प्रदेश में लॉकडाउन के बीच नशे के कारोबार को अंजाम देने के मामले में डीजीपी डीएम अवस्थी ने सख्त फरमान जारी करते हुए पुलिस अफसरों की भी जांच सुनिश्चित कर दी है। घनी आबादी वाले हिस्सों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में शराब का जखीरा मिलने पर डीजीपी ने साफ निर्देश जारी कर दिए हैं कि जांच के दायरे में लोकल थाना स्टाफ और थानेदार भी शामिल किए जाएंगे। अगर कहीं भी उनकी संलिप्तता पाई गई तो सीधे निलंबन l प्रदेश में लॉकडाउन के बीच नशे के कारोबार को अंजाम देने के मामले में डीजीपी डीएम अवस्थी ने सख्त फरमान जारी करते हुए पुलिस अफसरों की भी जांच सुनिश्चित कर दी है। घनी आबादी वाले हिस्सों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में शराब का जखीरा मिलने पर डीजीपी ने साफ निर्देश जारी कर दिए हैं कि जांच के दायरे में लोकल थाना स्टाफ और थानेदार भी शामिल किए जाएंगे। अगर कहीं भी उनकी संलिप्तता पाई गई तो सीधे निलंबन की कार्रवाई होगी। अनलॉक के ठीक पहले मंदिरहसौद क्षेत्र में शराब का बड़ा जखीरा मिलने के बाद डीजीपी ने टीआई का तबादला सीधे बस्तर कराया था। लॉकडाउन के दौरान रायपुर में भी कई जगहों में शराब के अवैध कारोबार की सूचनाएं सामने आने लगी हैं। बुधवार को आबकारी दस्ते की एक कार्रवाई में मध्यप्रदेश ब्रांड की शराब मिलने के बाद और कई जगहों में पेटी खपाए जाने का अंदेशा है। एक दिन पहले ही हरिभूमि ने शहर के तमाम जगहों की पड़ताल कर खबर प्रकाशित की थी। अगले दिन मामला संज्ञान में लेकर डीजीपी ने सर्कुलर जारी करने की बात कही है। बातचीत के दौरान डीजीपी श्री अवस्थी ने बताया, नशे के कारोबार और बड़े सौदागरों के सक्रिय होने वाले क्षेत्रों में अफसरों की भूमिका जांची जाएगी। केवल थानेदार ही नहीं, बल्कि उनके सुपरविजन अफसर भी जवाब प्रस्तुत करेंगे। Also Read - बड़ी खबर : गौरेला और पेंड्रा दोनों नगर पंचायत को नगर पालिका का दर्जा देने सीएम भूपेश बघेल ने की घोषणा अनलॉक की छूट में पहुंचा शराब स्टाक शहर की सीमाओं को अनलॉक-4 में कुछ समय के लिए खोले जाने के बाद मध्यप्रदेश ब्रांड और हरियाणा ब्रांड की शराब खपाए जाने की सूचनाएं मिल रही हैं। बड़े ब्रांड से लेकर लोवर ब्रांड की शराब खपाई जा चुकी है। लॉकडाउन के बाद इन्हें महंगे दामों पर बेचा जा रहा है।

 रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर और महासमुंद जैसे शहर टाॅप लिस्ट में हैं। यहां पहले भी मध्यप्रदेश ब्रांड की शराब बड़ी मात्रा में जब्त हो चुकी है। डीजीपी का स्पेशल सर्विलांस जिलों में शराब, गांजा और सट्टे के अवैध कारोबार पर नकेल कसने डीजीपी ने अलग से स्पेशल सर्विलांस रखा है। करीबी सूत्र के मुताबिक थाना स्तर पर सर्विलांस यूनिट की निगरानी होगी। इसके पहले भी मंदिरहसौद में इसी तरह से शराब का अवैध कारोबार करने वाले बड़े ठिकाने का पता चला था। डीजीपी के सर्विलांस में ही बड़ा जखीरा बरामद हुआ, इसके बाद टीआई पर गाज गिरी। डीजीपी ने इस बार भी इसी तरह के संकेत दिए हैं। अफसर-स्टाफ देंगे जवाब शराब और दूसरे तरह के नशे का कारोबार पता चला तो थाना स्तर पर स्टाफ की जांच होगी। टीआई की भूमिका सामने आने पर सीधे निलंबन की कार्रवाई होगी। सुपरविजन अफसर से भी जवाब-तलब करेंगे। 

 डीएम अवस्थी, डीजीपी, छग

Popular posts
हाथी के गोबर से बनी इस चीज का सेवन आप रोज करते हो.. जाने कैसे
Image
वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, व्यापक स्तर पर ‘लॉकडाउन’ लगाने का विचार नहीं - महामारी की रोकथाम के लिये केवल स्थानीय स्तर पर नियंत्रण के कदम उठाये जाएंगे
Image
लॉकडाउन के बाद घर पर पोछा लगाते दिखी एक्ट्रेस हिना खान
Image
मशहूर डिजाइनर सुनील सेठी खादी और ग्रामोद्योग आयोग के सलाहकार नियुक्त
Image
सख्त निर्देशों के साथ प्रदेश में शुरू हुआ जरूरी कामकाज - मुंह ढकना जरूरी, थूकने पर जुर्माना , पान मसाला, गुटखा प्रतिबंधित, दुकानों में दो से अधिक का जमवाड़ा वर्जित
Image