कोरोना के बाद अब बच्चों में नज़र आई रहस्यमयी बीमारी









 


रिपोर्ट मनप्रीत सिंह















 



रायपुर छत्तीसगढ़ विशेष : कोरोना संक्रमण से जूझ रहे अमेरिका  के न्यूयॉर्क में एक नई बीमारी ने दस्तक दी है. ये बीमारी बच्चों में फ़ैल रही है और अकेले न्यूयॉर्क में 73 से ज्यादा बच्चे इसकी चपेट में हैं जबकि 3 की मौत भी हो गयी है. पूरे अमेरिका में इस रहस्यमय बीमारी के 100 से जयादा केस सामने आए हैं. सिर्फ अमेरिका ही नहीं ब्रिटेन , फ्रांस  इटली  और स्विट्जरलैंड में भी इस बीमारी की चपेट में 50 से ज्यादा बच्चे हैं. मिली जानकारी के मुताबिक इसकी चपेट में आने वाले बच्चों की उम्र 2 से 15 साल है. न्यूयॉर्क जीनोम सेंटर और रॉकफेलर यूनिवर्सिटी मिलकर इस बीमारी के कारणों का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं. शुरुआत में इसे कोरोना संक्रमण से संबंधित माना जा रहा था लेकिन न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रयू क्योमो ने बताया है कि रहस्यमय बीमारी वाले ज्यादातर बच्चों में सांस लेने में दिक्कत के लक्षण नहीं दिखे हैं. क्योमो ने भले ही मौत का आंकड़ा 3 बताया हो लेकिन स्थानीय मीडिया इस बीमारी से 10 से जयादा बच्चों की मौत का दावा कर रही है. न्यूयॉर्क स्वास्थ्य विभाग ने भी बयान जारी कर बताया है कि इस बात की जांच जारी है कि कुल कितने मामले हैं और मारे गए बच्चों में से कितनों की मौत इस बीमारी से हुई है.







क्या हैं बीमारी के लक्षण?


न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक इस बीमारी के शुरूआती लक्षणों में त्वचा और धमनियां सूज जाती हैं. बच्चों की आंखों में जलन होती है और शरीर पर लाल-लाल धब्बे बनते हैं. इसके बाद त्वचा का रंग भी बदलने लगता है. इसके आलावा लंबे समय तक बुखार, पेट-सीने में गंभीर दर्द और लो ब्लड प्रेशर जैसी समस्याएं सामने आती हैं.


डॉक्टर्स का मानना है कि क्योंकि बीमारी और कारणों का पता नहीं है इसलिए इलाज भी मुश्किल है. फिलहाल मरीजों को स्टेरॉयड, इंट्रावेनस इम्युनोग्लोबुलिन और एस्पिरिन दवाएं दे रहे हैं.इसके आलावा मुश्किल परिस्थितियों में एंटीबायोटिक्स भी दी जा रही हैं. मिली जानकारी के मुताबिक कुछ मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखना पड़ा और ज्यादा गंभीर मरीजों को वेंटिलेटर पर भी रखना पड़ रहा है.


दुनिया भर में सामने आ रहे हैं केस


सिर्फ अमेरिका ही नहीं कई यूरोपीय देशों जैसे ब्रिटेन, फ्रांस, स्विटजरलैंड और इटली में भी इस रहस्यमय बीमारी के करीब 50 मामले आ चुके हैं. डब्ल्यूएचओ की वैज्ञानिक डॉ. मारिया वैन केरखोवे ने कहा कि यूरोपीय देशों में इस बीमारी के लक्षण बचपन में होने वाली बीमारी कावासाकी के लक्षणों जैसी है. शुरूआती छानबीन में पता चला है कि बच्चों पर इस रहस्यमय बीमारी का असर इसलिए ज्यादा हो सकता है क्योंकि उनमें रोग प्रतिरोधक क्षमता पूरी तरह से विकसित नहीं हुई है. इस बीमारी का पता लगाने के लिए फिलहाल जेनेटिक टेस्ट कराए जा रहे हैं.
















Popular posts
शरीर को डिटॉक्स करने का एक बेहतरीन तरीका, तलवों पर एक खास तरह की मिट्टी लगाना,
Image
अब देश के चोर भी हो गए हाईटेक - राजधानी एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों में चोरी करने के लिए प्लेन से आता था चोर
Image
समता और चौबे कॉलोनी में मिले कोरोना पॉजिटिव, निगम टीम ने प्रभावित क्षेत्रों को किया सेनेटाइज्ड
Image
केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव - छत्तीसगढ़ में कोरोना का पॉजिटिविटी रेट बढ़ा, और बढ़कर लगभग 28% हो गया
Image
ईद-उल-अजहा पर्व पर आज विधायक कुलदीप जुनेजा और छत्तीसगढ़ विशेष के सम्पादक मनप्रीत सिंह ने सभी प्रदेशवासियों को बधाई देते कहा कि ईद-उल-अजहा पर्व हमे भाईचारा एवं एकजुटता का संदेश देता है
Image
रायपुर , पूर्व विधायक श्री बैजनाथ चन्द्राकर ने करोना संक्रमण को देखते हुए छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी बैंक (अपेक्स बैंक) के प्राधिकारी के साथ मुख्यमंत्री सहयता कोष मे 10.00 लाख की राशि दी
Image
सर्दियों में सॉफ्ट और खूबसूरत स्किन के लिए फॉलो करें ये जरूरी टिप्स, कोमल बनेगी त्वचा, ग्लो रहेगा बरकरार
Image
हास्य केंद्र योग के दसवें स्थापना वर्ष में शामिल हुए विधायक कुलदीप जुनेजा
Image
एक थाली के पैसे देकर 2 थाली मुफ़्त, मंजू ममता रेस्टोरेंट का फेसबुक में विज्ञापन देख, लालच में पिता-पुत्री के खाते से उड़े हज़ारों --- रायपुर पुलिस ने धोखाधड़ी का अपराध किया दर्ज
Image
प्रदेश के गृह,पीडब्ल्यूडी, पर्यटन, संस्कृति मंत्री ताम्रध्वज साहू ने अंतर्राष्ट्रीय प्रेस स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर दी मीडिया को बधाई एवं शुभकामनाएं दी
Image