कोरोना का ऐसा खौफ , Washing Machine में धो डाले 14 लाख रुपए


Report manpreet singh 


Raipur chhattisgarh VISHESH :कोरोनावायरस के खौफ से लोग अपने को बचाने के लिए तमाम जतन कर रहे हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से बताई गई गाइडलाइंस का पालन करने के अलावा अपने हिसाब से भी एहतियात बरत रहे हैं। चीन से निकले कोरोनावायरस ने पुरी दुनिया में संक्रमण फैला रखा है। कोरोनावायरस के खौफ से साउथ कोरिया में कुछ लोगों ने ऐसा काम किया कि वो इन दिनों चर्चा का कारण बने हुए हैं। लोगों ने नोटों पर संक्रमण को खत्म करने के लिए पहले उसे वाशिंग मशीन में धूला फिर उसे ओवन में रखकर सूखाने की कोशिश की जिससे वो जलकर नष्ट हो गए।


ऐसे एक अरब डालर से अधिक नोट आशिंक या पूरी तरह जल गए हैं। चीन में भी नोटों को किया गया था सेनिटाइज सबसे पहले चीन में कोरोनावायरस के संक्रमण से बचने के लिए नोटों को भी सैनिटाइज किए जाने का मामला प्रकाश में आया है। अब इससे एक कदम आगे बढ़ते हुए साउथ कोरिया के लोगों ने नोटों पर कोरोना संक्रमण को खत्म करने के लिए उसे ओवन में रखा और कुछ ने तो उसे वाशिंग मशीन में धो डाला जिससे वो खराब हो गए। अब इस तरह के जले और खराब हुए नोट साउथ कोरिया के बैंक में बदलने के लिए पहुंचे तो इस तरह की चीजों का खुलासा हुआ। साउथ कोरिया ने कहा तीन गुना अधिक जले हुए नोट बदले गए दक्षिण कोरिया के रिजर्व बैंक कहे जाने वाले बैंक ऑफ कोरिया ने शुक्रवार को इस बारे में जानकारी दी है।


बैंक की ओर से कहा गया कि साल 2019 की अपेक्षा इस साल 6 माह में ही तीन गुना अधिक जले और कटे हुए नोट अब तक बदले जा चुके हैं। ये सिलसिला अभी थमा नहीं है। वैसे बैंक खुद भी अपनी तरफ से सावधानी बरत रहा है। बैंक में जितने नो जमा हो रहे हैं वो उनको सैनिटाइज कर रहा है और कुछ दिनों के लिए ऐसे नोटों को अलग भी रखा जा रहा है। बैंक ने कहा कि जनवरी से जून के बीच में 1.32 अरब वॉन (1.1 अरब डॉलर) के जले हुए नोट बैंक को लौटाए गए हैं। बैंक ने बताया इसी अवधि में पिछले साल मात्र 40 लाख डॉलर के जले हुए नोट लौटाए गए थे।


कोरोना वायरस का खौफ, ओवन में नोट रख वायरस मार रहे लोग साउथ कोरिया में कोरोनावायरस से बचने के चक्‍कर में लोगों ने अपने अरबों डॉलर अवन और वॉशिंग मशीन में जला दिए। दक्षिण कोरिया के केंद्रीय बैंक के मुताबिक लोगों ने करीब 2.25 ट्रिल्‍यन डॉलर मूल्‍य के नोटों और सिक्‍कों को नष्‍ट कर दिया। दरअसल लोगों ने इस वायरस को लेकर इतना अधिक खौफ है कि वो नोटों को ओवन में रखकर उससे संक्रमण मारना चाहते हैं जिससे नोट जल जा रहे हैं। इतना ही नहीं कई तो ऐसे लोग भी हैं जिन्‍होंने अपनी नोटों की गड्डियों से संक्रमण हटाने के लिए उसे ओवन में डाल दिया। इससे नोट काफी जल गए।


2.25 ट्रिल्‍यन डॉलर मूल्‍य के जले हुए नोट आए बैंक ऑफ कोरिया ने बताया कि इस साल ओवन के अंदर नोटों के जलाने के काफी मामले सामने आए हैं। बैंक का इशारा इस ओर था कि लोगों ने नोटों से कोरोना वायरस के फैलने के डर से इन नोटों को ओवन के अंदर जला दिया। बैंक ने बताया कि वर्ष 2020 के पहले 6 महीने में कुल 2.69 ट्रिल्‍यन वॉन या 2.25 ट्रिल्‍यन डॉलर मूल्‍य के कटे-फटे और जले हुए नोट और सिक्‍के बरामद हुए हैं। इन नोटों और सिक्‍कों को गरम करने के लिए माइक्रोवेव्‍स या ओवन के अलावा वॉशिंग मशीन का इस्‍तेमाल किया गया।


Popular posts
हाथी के गोबर से बनी इस चीज का सेवन आप रोज करते हो.. जाने कैसे
Image
वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, व्यापक स्तर पर ‘लॉकडाउन’ लगाने का विचार नहीं - महामारी की रोकथाम के लिये केवल स्थानीय स्तर पर नियंत्रण के कदम उठाये जाएंगे
Image
लॉकडाउन के बाद घर पर पोछा लगाते दिखी एक्ट्रेस हिना खान
Image
मशहूर डिजाइनर सुनील सेठी खादी और ग्रामोद्योग आयोग के सलाहकार नियुक्त
Image
सख्त निर्देशों के साथ प्रदेश में शुरू हुआ जरूरी कामकाज - मुंह ढकना जरूरी, थूकने पर जुर्माना , पान मसाला, गुटखा प्रतिबंधित, दुकानों में दो से अधिक का जमवाड़ा वर्जित
Image