स्काई शोरूम के नाम पर गूगल में फर्जी नंबर देकर लोगो से ठगी करने वाला शातिर अंर्तराज्यीय ठग को रायपुर पुलिस ने झारखण्ड के गिरीडीह से किया गिरफ्तार


#  प्रार्थी भागीरथी सिन्हा से स्काई शोरूम सर्विस के नाम पर झांसा देकर आॅनलाईन पेमेन्ट करवा कर दिये थे घटना को अंजाम।

 #   आरोपी ने गूगल सर्च इंजन में स्काई शोरूम सर्विस के नाम पर डाल रखा है अपना मोबाईल नंबर।

 #   05 रूपये का डेबिट लिंक भेजकर फार्म भरवाकर की गई आॅनलाईन ठगी।

#   आरोपी ने प्रार्थी के अकाउंट का यूपीआई लिंक बनाकर कर दिया था पूरा खाता खाली।

Report manpreet singh 

Raipur chhattisgarh VISHESH : आरोपी ने ठगी की रकम को पेटीएम के माध्यम से अलग-अलग खातो में दिया था ट्रांसफर। झारंखण्ड के गिरीडीह , देवघर एवं जामताड़ा एरिया पूरे देशभर में है सायबर क्राईम करने के नाम है कुख्यात। टीम द्वारा झारखण्ड में लगातार एक सप्ताह तक कैम्प कर की गई आरोपी की गिरफ्तारी। लाॅकडाउन एवं कोरोना के दौरान बढ़ रही सायबर क्राईम की घटनाओं को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री अजय यादव के निर्देश पर अलग-अलग राज्यों में की गई थी टीम रवाना।

आरोपी के कब्जे से 01 नग मोबाईल, 02 नग सिम कार्ड एवं 01 नग पासबुक किया गया बरामद।

आरोपी के विरूद्ध थाना अभनपुर में अपराध क्रमांक 153/2020 धारा 420 भादवि. के तहत किया गया है अपराध पंजीबद्ध।

विवरणः- प्रार्थी भागीरथी सिन्हा ने थाना आकर रिपोर्ट दर्ज कराया कि वह वार्ड नंबर 13 शिक्षक काॅलोनी अभनपुर में रहता है तथा बजरंग दास स्कूल में शिक्षक के पद पर कार्य करता है। प्रार्थी की मारूति कार क्रमांक सीजी04 एम के 6012 खराब हो जाने पर उसे बनवाने हेतु स्काई शोरूम मौदहापारा में दिया था। प्रार्थी ने स्काई शोरूम के मैनेजर को फोन नंबर में काॅल किया परंतु नंबर बंद था तो प्रार्थी ने गूगल से स्काई शोरूम का नंबर सर्च कर मोबाईल नंबर 6289707413 पर काॅल किया और गाड़ी के संबंध में चर्चा किया तो आॅनलाईन पेमेन्ट करने को कहा। उक्त नंबर के व्यक्ति ने 5 रूपये के पेमेन्ट करने की बात कही और लिंक भेजा तब प्रार्थी ने उस लिंक में 5 रूपये का जैसे ही ट्रांसफर किया तो ओटीपी आया जिसे मैने उक्त मोबाईल धारक को बता दिया कुछ देर बाद प्रार्थी के अकाउंट से 99,999 रूपये एवं 99,999 रूपये तथा 10,000 रूपये कुल 2,10,000 रूपये खाते से निकल गया, जिस पर थाना अभनपुर में अपराध क्रमांक 153/2020 धारा 420 भादवि. के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एवं उमनि श्री अजय यादव द्वारा कोरोना काल के दौरान लगातार बढ़ रहे सायबर क्राईम को देखते हुए अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण एवं अति. पुलिस अधीक्षक अपराध को आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये जिस पर प्रशिक्षु उपपुलिस अधीक्षक प्रशांत खाण्डे के नेतृृत्व में सायबर एवं थाना मौदहापारा की एक विशेष टीम का गठन कर झारखण्ड रवाना किया गया। टीम द्वारा झारखण्ड में लगातार एक सप्ताह का कैम्प करते हुए आरोपियों के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त की गई । प्राप्त जानकारी एवं तकनीकी विश्लेषण कर टीम द्वारा आरेापी मोह. अलताफ अंसारी पिता मोह. गजरूद्दीन अंसारी को रेड कार्यवाही कर गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त हुई। आरोपी ने पूछताछ में बताया कि वह स्काई शोरूम के नाम पर गूगल सर्च इंजन में अपना फर्जी नंबर डालकर रखा था जिससे कोई भी व्यक्ति अगर उस नंबर पर फोन करता तो उसे वह 5 रूपये का चार्ज ट्रांसफर करने हेतु लिंक भेजता जिस लिंक को क्लिक करने पर वह यूपीआई रजिस्टर्ड करवा लेता जिससे लिंक क्लिक करने वाले के खातें से रकम ट्रांसफर हो जाता है। आरोपी ने 5 रूपये का चार्ज के रूप में लिंक भेजकर प्रार्थी के खाते से कुल 2,10,000 रूपये अलग-अलग खातों में ट्रांसफर कर उपयोग करना स्वीकार किया। आरोपियो के निशानदेही पर उनके कब्जे से 01 नग मोबाईल एवं 02 नग सिम बरामद किया गया। आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके विरूद्ध अग्रिम कार्यवाही की जा रही है। आरोपियों को गिरफ्तार करने में प्रशिक्षु उप पुलिस अधीक्षक प्रशांत खाण्डे, सउनि शंकर धु्रव, प्रधान आरक्षक महेन्द्र राजपूत, संतोष सिंह, आरक्षक उपेन्द्र यादव की महत्वपूर्ण भूमिका रही है l

गिरफ्तार आरोपीः- मोहम्मद अलताफ अंसारी पिता मोहम्मद गजरूद्दीन अंसारी उम्र 20 वर्ष साकिन ग्राम घाटकुल पोस्ट गादी सिरसिया थाना गांडेय जिला गिरीडीह झारखंड।

Popular posts
हाथी के गोबर से बनी इस चीज का सेवन आप रोज करते हो.. जाने कैसे
Image
राजधानी रायपुर से लगी खारून नदी के किनारे कुम्हारी से अमलेश्वर तक बनेगी 8 किमी नई सड़क
Image
सर्दियों में सॉफ्ट और खूबसूरत स्किन के लिए फॉलो करें ये जरूरी टिप्स, कोमल बनेगी त्वचा, ग्लो रहेगा बरकरार
Image
छत्तीसगढ़ में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, पुलिस ने 6 लोगों को किया गिरफ्तार
Image
PACL के 12 लाख निवेशकों को 429 करोड़ रुपये से ज्‍यादा का पेमेंट किया जा चुका है। इनमें ज्यादातर छोटे निवेशक हैं, जिन्होंने कंपनी पर 10,000 रुपये तक का दावा किया था - बैंक खाते में भेजे पैसे l
Image
छत्तीसगढ़ में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, कचरा गोदाम खुलवाया गया तो युवकों ने पुलिस पर हमला करने की कोशिश मगर फोर्स को हावी होता देख, ठंडे पड़ गए और 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया
Image