देश में अब तक कोविड-19 के लगभग 8 करोड़ परीक्षण किए गए


Report manpreet singh 

RAIPUR chhattisgarh VISHESH : नई दिल्ली, देश ने कोविड जांच मामलों में नई ऊंचाई हासिल की है। अब तक आठ करोड 11 लाख से अधिक नमूनों की जांच की गई है। प्रतिदिन जांच के आंकडों में भारत अन्य देशों से अग्रणी हो रहा है।

पिछले 24 घंटों के दौरान लगभग 11 लाख कोविड नमूनों की जांच की गई है। केन्द्र सरकार और भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद-आईसीएमआर सुसंगठित तरीके से जांच की सुविधाओं को बढ़ा रहे हैं। भारत में जांच की क्षमता प्रतिदिन 15 लाख के आसपास पहुंच गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि आइडेंटिफिकेशन, प्राम्प्ट आइसोलेशन और इफेक्टिव ट्रीटमेंट से कोविड जांच बढ़ रही है। मंत्रालय ने यह भी कहा है कि मृत्यु दर में काफी कमी आई है।

 इस वर्ष जनवरी माह में पुणे में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी की शुरूआत की गई। देश में कोविड नमूनों की जांच के लिए आठ हजार 83 जांच प्रयोगशालाएं बनाई गई हैं, जिसमें से 103 सरकारी और 780 निजी हैं। दो महीनों के दौरान प्रति दस लाख की क्षमता में बढ़ोतरी हुई है और अब यह 50 हजार प्रति दस लाख जनसंख्या तक पहुंच गई है। जांच सुविधा बढाने से राज्य और केन्द्रशासित प्रदेशों द्वारा जांच में प्रतिदिन बढोतरी हो रही है। 23 राज्य और केन्द्रशासित प्रदेशों में राष्ट्रीय औसत से अधिक जांच की जा रही है। जांच बढऩे के बावजूद संक्रमण दर में कमी आई है और यह आठ दशमलव दो प्रतिशत के आसपास है। बिहार, गुजरात, उत्तरप्रदेश, मणिपुर, झारखण्ड और तेलंगाना उन राज्यों में शामिल हैं, जहां संक्रमण की दर पांच प्रतिशत से कम है।

Popular posts
हाथी के गोबर से बनी इस चीज का सेवन आप रोज करते हो.. जाने कैसे
Image
बार बंद तो घर में शुरू कर दी हुक्का पार्टी -पुलिस ने की छापेमारी -धरे गए हुक्का पीते 11 रईसजादे
Image
राजधानी रायपुर से लगी खारून नदी के किनारे कुम्हारी से अमलेश्वर तक बनेगी 8 किमी नई सड़क
Image
सर्दियों में सॉफ्ट और खूबसूरत स्किन के लिए फॉलो करें ये जरूरी टिप्स, कोमल बनेगी त्वचा, ग्लो रहेगा बरकरार
Image
महिला कांस्टेबल ने साथ क्वारेंटीन होने BF को बनाया नकली पति, तभी आ पहुंची असली पत्नी फिर जो हुआ...
Image
छत्तीसगढ़ में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, पुलिस ने 6 लोगों को किया गिरफ्तार
Image
PACL के 12 लाख निवेशकों को 429 करोड़ रुपये से ज्‍यादा का पेमेंट किया जा चुका है। इनमें ज्यादातर छोटे निवेशक हैं, जिन्होंने कंपनी पर 10,000 रुपये तक का दावा किया था - बैंक खाते में भेजे पैसे l
Image